Guest Lecturer Recruitment - अतिथि शिक्षक भर्ती - 2516 पदों की भर्ती - All Information

Tags

Guest Lecturer Recruitment Latest School Jobs : शिक्षा विभाग छत्‍तीसगढ़ ने बड़ी संख्‍या में शिक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी कर दिया है और ये सभी पद अतिथि शिक्षक के हैं। अतिथि शिक्षक के पद पर चयनित अभ्‍यर्थियों की सेवाएं तब तक ली जायेंगी जब तक कि उन पदों पर नियमित की शिक्षक की नियुक्ति नहीं हो जाती है। शिक्षा विभाग के द्वारा नियमित शिक्षक के 14500 पदों पर सीधी भर्ती के लिए पूर्व में वेकेंसी जारी की चुकी है, जिस पर चयन प्रक्रिया शुरू हो गयी है और लिखित परीक्षाएं जल्‍द होने वाली है।


दोस्‍तों आज हम बात करने वाले हैं अतिथि शिक्षक भर्ती के संबंध में। जी हां दोस्‍तों इस वीडियो के माध्‍यम से मैं आपको अतिथि शिक्षक याने कि गेस्‍ट लेक्‍चरर भर्ती के आवेदन प्रक्रिया से लेकर चयन प्रक्रिया तक की पूरी जानकारी देने वाला हूं।



Guest Lecturer Recruitment Latest School Jobs


तो दोस्‍तों बात कर लेते हैं अतिथि शिक्षक भर्ती के बारे में। अतिथि शिक्षक क्‍या है इनकी भर्ती किस तरह से होती है और इनकी सेवाएं किस प्रकार से ली जाती हैं।



तो सबसे पहले जान लेते हैं कि अतिथि शिक्षक क्‍या है ?


सबसे पहले तो मैं आपको यह बताना चाहूंगा कि अतिथि शिक्षक का पद एक अस्‍थायी पद है, जिस पर किसी उम्‍मीदवार की सेवा तब तक ली जाती है जब तक कि उस पद पर स्‍थायी नियुक्ति नहीं हो जाती है। अर्थात् यह एक प्रकार की अंतरिम व्‍यवस्‍था है, जो कि नियमित शिक्षक के पदभार ग्रहण करने तक चलती है।


इन पदों पर कार्यकाल 1 शिक्षा सत्र से लेकर कई शिक्षा सत्रों तक हो सकती है जो विभाग के ऊपर निर्भर करता है कि वह अतिथि शिक्षक के कार्यकाल को आगे बढ़ायेगा या नहीं। और जब इन पदों पर नियमित नियुक्ति हो जाती है या उम्‍मीदवारों का कार्यकाल आगे नहीं बढ़ाया जाता है तो ऐसे अतिथि शिक्षक को अपना कार्यकाल या पद छोड़ना पड़ता है। अर्थात् अतिथि शिक्षक की नियुक्ति नियमित शिक्षक के नियुक्ति या पदभार ग्रहण करने तक ही प्रभावी होता है और इनकी सेवाएं शाला प्रबंधन एवं विकास समिति के द्वारा कभी भी समाप्‍त की जा सकती है, जो उनके आचरण, व्‍यक्तित्‍व या कार्यकाल की प्रकृति पर निर्भर करता है।


एक अतिथि शिक्षक यह कभी भी दावा नहीं कर सकता है कि उसे एक नियमित शिक्षक के समान वेतन एवं अन्‍य सुविधाएं प्रदान की जाये। कहने का अर्थ है कि उन्‍हें उनके कार्यकाल के दौरान एक निश्चित संविदा वेतन या मानदेय प्रदान किया जायेगा। इसके अतिरिक्‍त उन्‍हें अन्‍य किसी भी प्रकार के भत्‍ते या अन्‍य सुविधाएं प्रदान नहीं की जायेंगी।


अतिथि शिक्षकों को अध्‍यापन के अतिरिक्‍त अन्‍य पाठ्य सहगामी क्रियाओं में भी नियमित शिक्षकों के समान भाग लेना होता है। अर्थात् जो कार्य एक नियमित शिक्षक को करना होता है, वे सारे कार्य एक अतिथि शिक्षक को भी करना होता है और इसके लिए संस्‍था प्रमुख द्वारा उन्‍हें किसी प्रकार की निर्देश भी दिये जा सकते हैं जिनका पालन अतिथि शिक्षक को करना होता है।


जब अतिथि शिक्षक अपनी सेवा देता है तो उसे अपनी उपस्थिति, निर्धारित उपस्थिति पंजी में दर्शानी होती है और इसी के आधार पर उनका वेतन निर्धारित किया जाता है।


अब बात कर लेते हैं अतिथि शिक्षक की नियुक्ति किस प्रकार से होनी है, तो इसके लिए संचालनालय स्‍कूल शिक्षा विभाग के द्वारा एक निर्देश जारी किया गया है, जिसके अनुसार अतिथि शिक्षक की नियुक्ति जिले के जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के द्वारा की जानी है और प्रदेश के विभिन्‍न जिलों के जिलाशिक्षाअधिकारी द्वारा अतिथि शिक्षक भर्ती के लिए विज्ञापन जारी कर दिया गया है। जिस पर आवेदन करने की अंतिम तिथि अलग-अलग हो सकती है। आप ऑफिशियल नोटिफिकेशन का अवलोकन कर इस बारे में और जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं। अतिथि शिक्षक की भर्ती के लिए जो निर्देश दिये गये हैं, वे मैं आपको बता देता हूं -


सबसे पहले तो अतिथि शिक्षक का विज्ञापन जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा जारी किया जाएगा और नियुक्ति भी जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा ही की जायेगी परंतु इनकी सेवाओं का प्रबंधन विद्यालय के प्राचार्य एवं वहां गठित शाला प्रबंधन एवं विकास समिति के द्वारा की जायेगी।


दूसरी बात यह है कि इसमें विद्यामितान शिक्षकों को पूर्ण रूप से प्राथमिकता दी जायेगी। याने कि ऐसे उम्‍मीदवार जो पूर्व में विद्यामितान शिक्षक के रूप में कार्य कर चुके हैं उनकी सेवाएं अतिथि शिक्षक के रूप में पहली ली जायेंगी। उसके बाद पद रिक्‍त हो तो राजस्‍व जिले याने कि उसी जिले के उम्‍मीदवारों को प्राथमिकता के आधार पर नियुक्ति की जायेगी। इसके बाद भी पद रिक्‍त हो तो संभाग के अंतर्गत आने वाले उम्‍मीदवारों की नियुक्ति की जायेगी। इसके बाद भी पद रिक्‍त हो तो राज्‍य स्‍तर के उम्‍मीदवार का चयन अतिथि शिक्षक के रूप में किया जायेगा।


अतिथि शिक्षक की नियुक्ति सबसे पहले शिक्षक विहीन हाईस्‍कूल या हायर सेकेंडरी स्‍कूल के लिए किया जायेगा, उसके बाद एकल शिक्षकीय हाईस्‍कूल या हायर सेकेंडरी स्‍कूल के लिए इनकी नियुक्ति की जायेगी। तत्‍पश्‍चात पद रिक्‍त होने पर अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति ऐसे स्‍कूलों के लिए की जायेगी जहां अनेक शिक्षक पहले से कार्यरत हों।


चयन प्रक्रिया में यदि दो अभ्‍यर्थियों के स्‍नातकोत्‍तर का अंक समान हो तो अधिक उम्र वाले आवेदक का चयन किया जाएगा।


चयनित अतिथि शिक्षकों को मानदेय या सैलेरी के रूप में 18000 रूपये का वेतनमान मिलेगा और यदि अतिथि शिक्षक निर्धारित कार्यदिवस में अपना अध्‍यापन कार्य नहीं कराते हैं तो आनुपातिक रूप से उनके मानदेय में कटौती की जायेगी। यहां मैं आपको एक बात बता दूं कि जो निर्देश संचालनालय के द्वारा जारी किये गये हैं उनमें आकस्मिक अवकाश का जिक्र नहीं हैं। हो सकता है इसकी जानकारी आपको संबंधित जिला शिक्षा कार्यालय के द्वारा दी जायेगी या नियुक्ति आदेश में इसका उल्‍लेख हो। या हो सकता है कि अवकाश के जो भी नियम हैं उनके अनुसार आपको छुट्टी की पात्रता होगी। अवकाश नियम की जानकारी के लिए आप सुविधा हैंडबुक पुस्‍तक का अवलोकन करें, जो आपको अपने नजदीकी बुक स्‍टॉल पर मिल जायेगी।


Click here to Join our Telegram Channel for Update - Don't miss

Important Links
Chhattisgarh Jobs All India Recruitment
Read in English हिंदी में पढ़ें
Join Whats App Join Telegram
All State Recruitment अन्य सरकारी नौकरी
नोट (Note) –
सभी उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे उपयुक्त पद के लिए पात्रता संबधी निर्देशों का अवलोकन भली-भांति कर लें एवं किसी भी विज्ञापन पर आवेदन करने से पहले अपने समझ से काम लेवें। कृपया सटिक एवं अधिक जानकारी के लिए विभागीय नोटिफिकेशन या विज्ञापन देखें। किसी भी स्थिति में विभागीय विज्ञापन में दिये गये निर्देश ही सही माने जावेंगे।

‘‘विस्तृत विज्ञापन डाउनलोड करने के लिए उपर दिये गये बाहरी लिंक (External Link) पर क्लिक करें अथवा विभागीय वेबसाइट पर जायें।’’

निवेदन (Request) -
आप सभी से निवेदन है कि इस Job Link को अपने अधिक से अधिक दोस्तों एवं वाट्स एप गुप तथा अन्य सोशल नेटवर्क जो भी आप प्रयोग करते हों में शेयर करें और एक अच्छा रोजगार पाने में उनकी मदद करें।
Loading...

Loading...