Success Story : मेरे जीवन का एक अनुभव - अमित पाण्डेय 7000244199

Tags

Advertisement

Success Story : दोस्तों ऋषभ देव पाण्डेय जी (सहायक प्राध्यापक) से प्रभावित होकर मैंने भी लेख लिखना शुरू किया।चूँकि मैं स्कूल लाइफ से ही लायब्रेरी जाने लगा था इसलिए विभिन्न विषयो पे पकड़ काफी मजबूत हो गया था । शुरुवात में मैंने कई लेख लिखा लेकिन अखबार वालो ने प्रकाशित नही किया मैं काफी दुखी और निराश हुआ। जब संपादक जी से पूछा तो उन्होंने कहाँ कि सैकड़ो लेख आते है जिस दिन आपका लेख अच्छा लगेगा जरूर प्रकाशित किया जाएगा एक लेख की वैधता 2 दिन है अगर प्रकाशित नही हुआ तो नया लेख भेजे ऐसा कहाँ गया । उसके बाद मैने 3 लेख भेजा फिर भी प्रकाशित नही हुआ काफी ख़राब लगा सोचा लिखना बन्द कर दूँ ।फिर मन में ख्याल आया कि बड़े शहरो के लोगो का लिखने का तरीका मेरे से बेहतर होगा यही वजह से मुझे अखबारो में जगह नही दिया जा रहा है । कहते है न "आसमाँ को जिद है,जहां बिजलियाँ गिराने की,


amit pandey forest department

हमे भी जिद है वहीँ आशियाना बनाने की!
उसूलों पे जहाँ आँच आये, तो टकराना ज़रूरी है,
अगर ज़िन्दा हों तो फिर, ज़िन्दा नज़र आना ज़रूरी है।"


 

फिर मैंने कुछ सुधार कर लिखना चालू किया ।इस बार जनसत्ता ने मेरा लेख प्रकाशित किया विषय था "जानलेवा अँधविस्वास "उसके बाद पायनियर ने "बन्द हो प्रतिशत आधारित भर्ती" को प्रकाशित किया । मैं काफी ख़ुश हुआ.इसके बाद हरिभूमि,बिजनेस स्टैंडर्स,दैनिक भास्कर जैसे राष्ट्रिय अखबारो ने अपने कालम में मुझे लगातार स्थान दिया ।बिजनेस स्टैण्डर्ड के साप्ताहिक मुद्दे में मैंने 500 रु का पुरूस्कार जीता दैनिक भास्कर के जरिए मेरे mail ID पे कुछ NGO ने मुझे देह दान ,ब्लड डोनेट,भ्रस्टाचार,मानव तस्करी आदि मुद्दों पे लिखने कहाँ । मैंने लिख के mail किया उन्होंने न सिर्फ मुझे सर्टिफिकेट दिया बल्कि 1000 रु प्रति लेख की दर से भुगतान भी किया ।लेख से प्रभावित होकर छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में एक कद्दावर नेता ने सोशल मीडिया में प्रचार के लिए मुझे लिखकर देने कहाँ लेकिन मैं व्यस्त होने की वजह से नही दे पाया । लगभग 80 से ऊपर लेख विभिन्न राष्ट्रीय अखबारो में मेरे प्रकाशित हो चुके है ।



Success Story by Amit Pandey 


दैनिक भास्कर द्वारा 3 जुलाई 2019 को मेरे लेख के एवज में 8000 रु बैंक खाते में क्रेडिट किया गया। दोस्तों जीवन में कभी हार न माने कब कहाँ आपकी मेहनत काम आ जाए और आपका किस्मत चमक जाए कोई नही जानता ।इसलिए निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए ये एक छोटी सी मेरी कहानी है जो आप लोगो तक पहुँचाना जरुरी था । लगातार असफलता और निराशा की वजह से अगर उस दिन मैंने लिखना बन्द कर दिया होता तो आज ये मुकाम हासिल नही होता ।


अमित पाण्डेय
7000244199


 

(दोस्‍तों श्री अमित पांडेय जी के बारे में एक बात बताना चाहूंगा कि ये बहुत ही हेल्पिंग नेचर के हैं और इनके द्वारा व्‍यापमं एवं पीएससी परीक्षाओं की तैयारी से संबंधित Jobskind PSC, Jobskind Vyapam वाट्सअप ग्रुप का संचालन किया जाता है। इस ग्रुप के माध्‍यम से अभी तक बहुत से युवाओं ने लाभ उठाया हैं। आप भी इनके अनुभव का लाभ उठा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप स्‍वयं श्री अमित पांडेय जी से संपर्क कर सकते हैं। )

Advertisement

Advertisement
नोट (Note) –
सभी उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे उपयुक्त पद के लिए पात्रता संबधी निर्देशों का अवलोकन भली-भांति कर लें एवं किसी भी विज्ञापन पर आवेदन करने से पहले अपने समझ से काम लेवें। कृपया सटिक एवं अधिक जानकारी के लिए विभागीय नोटिफिकेशन या विज्ञापन देखें। किसी भी स्थिति में विभागीय विज्ञापन में दिये गये निर्देश ही सही माने जावेंगे।

‘‘विस्तृत विज्ञापन डाउनलोड करने के लिए उपर दिये गये बाहरी लिंक (External Link) पर क्लिक करें अथवा विभागीय वेबसाइट पर जायें।’’

निवेदन (Request) -
आप सभी से निवेदन है कि इस Job Link को अपने अधिक से अधिक दोस्तों एवं वाट्स एप गुप तथा अन्य सोशल नेटवर्क जो भी आप प्रयोग करते हों में शेयर करें और एक अच्छा रोजगार पाने में उनकी मदद करें।

Loading...
Advertisement

Loading...